Ticker

6/recent/ticker-posts

Ad Code

उत्तरी ध्रुव के ऊपर 16000 km लम्बी उड़ान भरकर महिला चालको ने रचा इतिहास

 हमेशा महिलाओं के बारे में आपने नकारात्मक बातें ही सुनी होगी की महिलाओं के लिए केवल घर की चारदीवारी में काम करना ही बहेतर है ,लेकिन आज हम आपको भारतीय महिलाओं के साहस और जज्बे से भरी एक मिसाल के बारे में बताने जा रहे है। जिसे पढ़कर शायद ही आपको विश्वास होगा क्योंकि यह पहली बार हुआ है।



उत्तरी ध्रुव के ऊपर से फ्लाइट उड़ाना हर किसी के बस की बात नही होती। हमेशा कंपनीया भी इसके लिए अपने चुनींदा और ट्रेंड चालको को ही भेजती है।

ऐतिहासिक उड़ान सेन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु

पहेली बार यह आसान कर दिखाया 4 महिला चालक दल द्वारा। एयर इंडिया के मुताबिक उड़ान संख्या एआई-176 सेन फ्रांसिस्को से होते हुए आज सुबह 4 बजे बेंगलुरु के केम्पेगौडा अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डे से सफलता पूर्वक लेंडिंग की है। यह विमान 16000 किलोमीटर की लंबी दूरी वो भी उत्तरी ध्रुव से सफल उड़ान भरकर इतिहास रचा है।


इसमे सबसे उम्दा पलों की बात यह है कि फ्लाइट पूरी तरह से नारी शक्ति के अधीन था। चालक दल की सदस्य कैप्टन जोया अग्रवाल,कैप्टन पापागरी तनमई,कैप्टन आकांक्षा सोनवरे,कैप्टन शिवानी मन्हास के हाथों कॉकपिट की जिम्मेदारी दी गई थी।


यह पहली बार है कि उत्तरी ध्रुव से इतनी लंबी दूरी की उड़ान केवल महिला चालकों द्वारा पूरी की गई।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां